Breaking News Latest News

दुःखद खबर:- घनसाली की वंदना के बाद एक और बेटी चढ़ी दहेज की भेंट।

रुद्रप्रयाग:- पहाड़ में दहेज प्रथा का कभी चलन नहीं था, लेकिन अब यहां भी दहेज के लिए बेटियां सताई जाने लगी हैं। दहेज के लिए मारी भी जा रही हैं। अभी टिहरी के पिपोला गांव की वंदना का मामला शांत नहीं हुआ कि हालिया मामला रुद्रप्रयाग जिले से आ गया है। यहां विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस शुरुआती जांच में इसे आत्महत्या का मामला बता रही है, लेकिन युवती के परिजनों का कहना है कि उसे खुदकुशी के लिए मजबूर किया गया। ससुराल वाले युवती पर दहेज में 15 लाख रुपये लाने का दबाव बना रहे थे। आरोप यह भी है कि युवती के पति का किसी और महिला से अवैध संबंध थे। तनाव के चलते युवती ने अपनी जान दे दी।
घटना गुप्तकाशी की है, जहां कुसुम नाम की युवती ने खुदकुशी कर ली। कुसुम की उम्र सिर्फ 20 साल थी, ये कोई मरने की उम्र नहीं होती, लेकिन कुछ तो ऐसा जरूर रहा होगा, जिसने कुसुम को अपनी जिंदगी खत्म कर लेने पर मजबूर कर दिया।
कुसुम के पिता की तहरीर के मुताबिक कुसुम का पति विपिन सिंह रावत फौज में है। कुसुम के परिजनों ने पति और ससुरालवालों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पुलिस को दी गई तहरीर में कुसुम के पिता ने बताया कि शादी के बाद भी विपिन किसी महिला से फोन पर बात किया करता था। विपिन और उस महिला के बीच अवैध संबंध थे। कुसुम ने विरोध किया तो विपिन उसे प्रताड़ित करने लगा।
आरोप है कि विपिन अपनी पत्नी कुसुम पर दहेज में 15 लाख रुपये देने का दबाव बना रहा था। उसने कुसुम को धमकी दी थी कि अगर 15 लाख रूपये नहीं मिले तो वो कुसुम को घर से बाहर निकाल देगा। विपिन ने दूसरी शादी करने की धमकी भी दी थी।
मानसिक प्रताड़ना से तंग आकर कुसुम ने खुदकुशी कर ली। कुसुम के पिता ने आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है, उन्होंने पुलिस से आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। रुद्रप्रयाग पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है
ब्यूरो रिपोर्ट

About the author

admin

Add Comment

Click here to post a comment

error: Content is protected !!