बदहाली:- विकास की दौड़ में भी बदहाली के आंसू बहा रहा घनसाली के सीमान्त गांवो को जोड़ने वाला यह सड़क मार्ग। जान हथेली पर रखकर आवागमन कर रहे लोग।

Breaking News गढ़वाल टिहरी गढ़वाल

बदहाली:- विकास की दौड़ में भी बदहाली के आंसू बहा रहा घनसाली के सीमान्त गांवो को जोड़ने वाला यह सड़क मार्ग।
जान हथेली पर रखकर आवागमन कर रहे लोग।

टिहरी जनपद के सीमान्त क्षेत्र भट्टगाँव को जोड़ने वाला सड़क मार्ग बदहाली के आंसू बहा रहा हूं।
आपकी जानकारी के लिये बताते चले की इस सड़क मार्ग की चमियाला बाजार से लगभग दूरी 18 किलोमीटर है तथा लाटा पिलवां पुल से लगभग 15 किलोमीटर की इसकी दूरी है।
वही लाटा पिलवां पुल तथा सीताकोट से आगे इस सड़क मार्ग की स्थिति खस्ताहाल बनी हुई है।



जैसे जैसे आप इस सड़क मार्ग पर आगे बढ़ते जायेंगे विकास के दावो और लोक निर्माण विभाग की सडको के रखरखाव की हकीकत आपके सामने बयां होती चली जायेगी।

स्थानीय लोगो का आरोप है कि यहाँ पर वाहनों से आवागमन करने वाले सभी जान हथेली पर रखकर इस सड़क मार्ग से रोजाना गुजरते है।

थोड़ी सी बारिस होने पर ही इसकी स्थिति और भी दुष्कर हो जाती है।

ग्रामीणों में इस सड़क की बदहाली को लेकर बड़ा आक्रोश पैदा हो रहा है।

वीडियो में आप इस बात को साफ़ साफ़ देख सकते है कि किस तरह यहाँ पर चलने वाली सर्विस बस चालक और अन्य दुपहिया वाहन चालकों को किस तरह जान हथेली पर रखकर सफर करना पड़ रहा है, जिसको लेकर सभी लोगो में खासा नाराजगी और रोष पनप रहा है।

यह सड़क मार्ग घनसाली विधानसभा के सीमान्त क्षेत्रो के सीताकोट, सौंप, आर्स, लोदस, भटगांव, डमकोट, पौनाडा तथा चौठरा इत्यादि इलाको को जोड़ता है।

ग्राम प्रधान भटगांव का बड़ा आरोप है कि भटगांव लोदस सड़क मार्ग की नयी सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है तथा वहाँ पर कार्य करने वाले ठेकेदार द्वारा निर्माणाधीन सड़क मार्ग के मलबे का सही ढंग से डंपिंग नहीं किये जाने से सीताकोट सड़क मार्ग की स्थिति और ज्यादा खराब हो रही।
इसके लिए बाकायदा उनके द्वारा शिकायत भी की जा चुकी है लेकिन इस पर विभागों द्वारा कोई कार्यवाही अभी तक नहीं की गयी है जो बड़ा खेद का विषय है तथा सीधा सीधा स्थानीय लोगो की भावनाओ में साथ खिलवाड़ है।

आक्रोश एवं आरोप

ग्राम प्रधान भटगांव विनोद बर्तवाल ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पीएमजीएसवाई और लोक निर्माण विभाग घनसाली किसी ने भी इस सड़क की सुध नहीं ली।
उन्होंने बताया कि यह सड़क पहले पीएमजीएसवाई के पास थी तब भी इसकी हालात बुरे थे अब लोक निर्माण विभाग के पास ट्रांसफर हो गयी है तब भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।
उनका यह भी कहना की डामरीकरण की बात तो छोडो यह सड़क पैदल चलने लायक नहीं है।
उन्होंने और भी कई आरोप विभागों और जनप्रतिनिधियों की कार्यशाला पर उठाते हुए कहा कि भटगांव घनसाली विधानसभा का सीमान्त गांव है यहाँ पिछले एक महीने से पानी का बड़ा संकट है लेकिन कोई सुनावई नहीं, सड़क मार्ग की स्थिति बदहाल है लेकिन कोई सुनने वाला नहीं।
उनके द्वारा क्षेत्रीय विधायक को भी वीडियो भेजी गयी थी लेकिन कुछ हुआ नहीं।
ऐसे में यहाँ पर आने वाले समय में एक मेला भी होने वाला है लेकिन अगर सड़क के ऐसे ही हाल रहे तो आखिर लोग इस बदहाल सड़क के चलते उस कार्यक्रम का हिस्सा कैसे बनेंगे।

हालात सड़क के इतने खराब है कि बसों में बैठी हुई सवारी को बस को मलबे वाली जगह से पार करने के लिए बस से नीचे उतरना पड़ रहा है।
वही ग्रामीणों ने भी इस सड़क और अन्य समस्यों को लेकर अपनी भड़ास भी निकाली।
सवाल यह पैदा होता है कि विकास के दौर में इस सीमान्त क्षेत्र में समस्यों का निराकरण क्यों नहीं हो पा रहा है।
आखिर जनप्रतिनिधि क्यों लोगो की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पा रहे है।
लोगो में रोष है लेकिन बावजूद इसके क्षेत्र की परेशानियां और दुश्वारियां कम होने का नाम नहीं ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.